अपने शहर के दर्शनीय स्थलों की प्रशंसा करते हुए अपने मामाजी को पत्र

By   April 18, 2017

अपने शहर के दर्शनीय स्थलों की प्रशंसा करते हुए अपने मामाजी को पत्र

‘Letter to your maternal uncle about viewable places of your city’ in Hindi | ‘Apne shahar ke darshaniy sthalon ke bare men apne mama ji ko Patra’

आदरणीय मामाजी,
सादर प्रणाम।

हम सभी यहाँ सकुशल हैं और आशा करता हूँ कि आप सब लोग भी कुशलपूर्वक होंगे। मुझे आपका पत्र प्राप्त हुआ। मेरी इच्छा है कि आप इन गर्मी की छुट्टियों में भाई को लेकर यहाँ लखनऊ आयें। लखनऊ एक बड़ा एवं खूबसूरत शहर है और क्योंकि यह उत्तर प्रदेश की राजधानी है, यहाँ कई दर्शनीय स्थल भी है। यहाँ पर छोटा इमामबाड़ा और बड़ा इमामबाड़ा हैं जो मुग़ल साम्राज्य की निशानी हैं। यहाँ की दीवारों पर की गई नक्काशी देखने लायक है। लखनऊ में आंचलिक विज्ञान केंद्र, कलगांव, चिड़ियाघर, वनस्पति उद्यान, इंदिरा गांधी नक्षत्र शाला, भूल-भुलैया एवं शहीद स्मारक इत्यादि भी हैं जो अच्छे दर्शनीय स्थल हैं।

अब मैं पत्र समाप्त करता हूँ और यह आशा करता हूँ कि आप यहाँ पर भाई के साथ आयेंगे। मामीजी को सादर नमस्ते और भाई को स्नेहाशीष।

                                                                                                                      आपका प्रिय भांजा
18 फरवरी, 2014
XXX
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *